हमारे विकास के कामों की तुलना अन्य पार्टियों के दिल्ली के शासन से असानी से की जा सकती है – डा0 ऐ0के0 वालिया 

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय माकन ने लाभ के पद के चलते आम आदमी पार्टी पार्टी के विधायकों की सदस्यता निरस्त होने के कारण खाली हुई 20 विधानसभाओं में होने वाले उपचुनाव के चलते कार्यकर्ता सम्मेलनों की शुरुआत करते हुए आज कृष्णा नगर जिला कांग्रेस कमेटी के अन्तर्गत आने वाली लक्ष्मी नगर विधानसभा के पांडव नगर में कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा और आम आदमी पार्टी दोनों दिल्ली की जनता को गुमराह कर रही है जिसके कारण दिल्ली का विकास ठप्प पड़ गया है। आज दिल्ली की जनता दोबारा कांग्रेस को याद कर रही है कि यदि शासन चलाना और विकास करना आता है तो वह सिर्फ कांग्रेस को ही आता है। कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय माकन के अलावा दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री डा0 ऐ0के0 वालिया, श्री चत्तर सिंह, कृष्णा नगर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष श्री सुनील वोहरा, पूर्व निगम पार्षद श्री शरणजीत शर्मा और संजय चौहान, राजेश सिंधरी, अमित मिश्रा, प्रवीन शर्मा, रंजीत लोहेरा,रुपेन्द्र शर्मा व प्रदीप नैयर सहित सैंकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे।

श्री माकन ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में यमुना पार में जितना भी विकास का कार्य हुआ वह डा0 ऐ0के0 वालिया के अथक प्रयासों के कारण हुआ है क्योंकि जब भी कोई केन्द्र की योजना आती थी डा0 ऐ0के0 वालिया उस योजना को सर्वप्रथम यमुनापार के लिए लाते थे। श्री माकन ने कहा कि डा0 वालिया ने निस्वार्थ भाव से दिल्ली सरकार में मंत्री रहते न सिर्फ लक्ष्मी नगर विधानसभा के लिए कार्य किया था बल्कि दिल्ली के लिए भी उन्होंने नई-नई विकास की योजनाएं लागू करवाई थी। श्री माकन ने कहा कि यमुना पार में जितने भी फ्लाईओवर बने है और फेस 3 की मेट्रो यमुना पार में आई है वह सिर्फ और सिर्फ डा0 वालिया के प्रयासों के कारण आई है। यमुना विकास बोर्ड का गठन भी डा0 ऐ0के0 वालिया के कार्यकाल में हुआ था।

कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए डा0 ऐ0के0 वालिया ने कहा कि हमने यमुना पार के क्षेत्र में बहुत विकास किया है और हमारे विकास के कामों की तुलना अन्य पार्टियों के दिल्ली के शासन से असानी से की जा सकती है। उन्होंने कहा कि हमने यमुना पार की अनाधिकृत कालोनियों की कोई ऐसी गली नही छोड़ी है जिसका विकास  नही हुआ हो परंतु आप पार्टी की दिल्ली सरकार ने दिल्ली की अनदेखी की है क्योंकि उनको केन्द्र और उनके नुमांईदों से लड़ाई करने से फुरसत नही है।

श्री माकन ने कहा कि दिल्लीवासियों को केन्द्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से पहले नोटबंदी उसके बाद जीएसटी और अब सीलिंग की मार झेलनी पड़ रही है जिसके कारण उद्योग धंधे तो चौपट हुए ही है बल्कि बेरोजगारी भी बढ़ी है। श्री माकन ने कहा कि आज भाजपा और आम आदमी पार्टी में होड़ लगी हुई है कि कौन कितना ज्यादा बड़ा झूठ बोलकर जनता को बेवकूफ बना सकता है, परंतु दिल्ली की जनता को अब समझ आ गई है कि दोनो पार्टियों ने किस प्रकार झूठ बोलकर सत्ता हथियाई थी। श्री माकन ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली में अपने 15 वर्ष के कार्यकाल में जो विकास के कार्य किए थे उसके आगे आप पार्टी की दिल्ली सरकार ने एक नई ईंट तक नही लगाई गई है और कांग्रेस के कार्यकाल में शुरु हुई योजनाओं के उद्घाटन किए है।  उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के समय आज दिल्ली की परिवहन व्यवस्था चरमरा गई है। जहां कांग्रेस के समय में डीटीसी के बेड़े में 5500 बसे थी वह घटकर3800 रह गई है अर्थात 1700 बसे कम हो गई।  इसी प्रकार सरकारी स्कूलों में कांग्रेस के समय में 17,61,000 विद्यार्थी पढ़ते थे वहीं आप पार्टी के  शासन काल में यह विद्यार्थी 1.61 लाख घटकर 16 लाख रह गए क्योंकि सरकारी स्कूलों की स्थिति दिन पर दिन खराब होती जा रही है।

श्री माकन ने कहा कि एक आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार है जिसका चुनाव चिन्ह झाडू है और दूसरी भाजपा की केन्द्र सरकार है जिसने स्वच्छ भारत अभियान चला रखा है। जबकि बड़े दुर्भाग्य की बात है कि इन दोनो सरकारों के चलते दिल्ली के सफाई कर्मचारी त्रस्त है क्योंकि उनको अपना वेतन लेने के लिए हड़ताल करनी पड़ती है और वेतन के लिए निगम में भाजपा की सरकार, दिल्ली सरकार के पास भेज देती है और दिल्ली सरकार केन्द्र सरकार के पास।  जबकि कांग्रेस के कार्यकाल में सफाई कर्मचारियों को एक दिन की हड़ताल भी अपना वेतन लेने के लिए करनी पड़ी थी और अस्थाई कर्मचारियों को पक्का करके लाखों रुपये एरियर दिए जाते थे जिसके द्वारा ये कर्मचारी अपने बच्चों की शादी तथा मकान बनाते थे।

श्री माकन ने कहा कि दिल्ली देश की राजधानी है परंतु भाजपा और आम आदमी पार्टी की अनदेखी के कारण दिल्ली में चिकनगुनिया व डेंगू जैसी महामारियों के फैलने के कारण दिल्ली के मासूम लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *