नई जीएसटी रिटर्न भरने की प्रणाली एक स्वागत कदम -इंटेग्रेटेड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री

नई दिल्ली- जीएसटी परिषद द्वारा अनुमोदित सरलीकृत टैक्स रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया का उद्योग जगत स्वागत करता है, लेकिन इसे उद्योग के तैयारी स्तर को ध्यान में रखते हुए लागू किया जाना चाहिए। इंटेग्रेटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के डायरेक्टर मानवेंद्र ने कहा कुछ अपवादों के साथ पंजीकृत करदाताओं द्वारा दायर की जाने वाली एकल मासिक रिटर्न के साथ रिटर्न दाखिल करने के नए मॉडल को लागू करने के लिए जीएसटी परिषद का निर्णय स्वागत है। ऐसा माना जाता है कि प्रस्तावित रिटर्न फाइलिंग सिस्टम जीएसटी शासन के तहत करदाताओं के अनुपालन बोझ को कम करेगा। मानवेंद्र ने जोर देकर कहा हालांकि, नई प्रणाली को लागू करने के लिए छह महीने की समय रेखा की समीक्षा नई प्रणाली के लिए उद्योग की तैयारी के अनुसार की जानी चाहिए। नई जीएसटी रिटर्न फाइलिंग सिस्टम का कार्यान्वयन आसान होगा यदि उद्योग इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। गौरतलब है कि जीएसटी को लेकर अब भी व्यापारियों के बीच ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। जिसके कारण सरकार ने नए कदम उठाए हैं जिससे कि व्यापारियों और उद्योगजगत के लोगों को सुविधा हो सके।

 

इंटेग्रेटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (आईसीसीआई) के बारे में

इंटेग्रेटेड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (आईसीसीआई) उद्योग का विभिन्न क्षेत्रों के उद्यमियों, कारपोरेट, नीति-निर्माताओं, मीडिया, अकादमिक और शोधकर्ता का एक मजबूत नेटवर्क है। आईसीसीआई नियमित विचार-विमर्श, सर्वेक्षण, उद्योग और नीति निर्माताओं के बीच पुल का कार्य करता है। आईसीसीआई का विजन भारत की अग्रणी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करने में भारत सरकार का सहयोग देना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *